बीएफ सेक्सी भाभी देवर

खड़े खड़े सेक्स

खड़े खड़े सेक्स, अरे निर्मू देवी, हम भी तो उतनी ही मेहनत करते हैं। आपने हमें तो कभी भी ऐसे दुलार नहीं दिया ? डैडी ने बुरा सा मुंह बना कर कहा। लगभग दो घंटों में नम्रता चाची, ऋतू मौसी और दीदी भी मीनू और मेरे जैसे चोली और लहंगे में सज- धज कर हमें लेने आयीं।

क्यो ऐसी दरिंदगी इस समाज में फैल गई है…आज मेरे घर में रोहित और SP साहब डिनर पर आये थे और यही बात हमारे बीच उठ गई .. मैं नानाजी को ढूँढने के लिए सब तरफ गयी. रसोई घर में छोटी मामी सुशीला [शीलू] पूरे*नियंत्रण में थीं. शीलू मामी मेरे पापा की बड़ी बहन थीं, अतः मेरी बुआ भी लगती थीं. शुरू से ही मुझे उनको बुआ कहने की आदत पड़ गयी थी. सो मैंने उनको हमेशा बुआ कह कर ही पुकारा.

शास...कंचन ये दोनो पहले चुदवा चुकी है...अब एन्हे जीयादा देर नही लगेगी....अओर फिर इनकी चूत तो पहले ही पानी चोदने को तय्यार है....बस लंड का साथ मिल जाए.... खड़े खड़े सेक्स टांगें और बाज़ू पूरे शरीर से दूर फ़ैल गए थे। उनके विशाल बालों से ढके भारी शक्तिशाली नितिम्बों ने एक जुम्बिश सी ली और उनके सुपाड़ा मेरे

गांड मारने वाला सेक्स वीडियो

  1. अक्कू बेटा क्या तुम्हे मम्मी की चूत चाहिये ? मम्मी ने अक्कू से कामुक छेड़छाड़ के स्वरुप में पूछा। अँधा क्या चाहे दो आँख!
  2. कभी तो थोड़ा सब्र करो ,भाग थोड़ी ना रही हु,इतना इंतजाम किया है और आप यही शुरू हो जाओगे,उसका गीला हाथ मेरे लिंग पर था,सच में मैं यही सोच रहा था की कभी अकड़े हुए लिंग को उसकी गीली योनि में घुसा ही दु ,लेकिन उसकी बात सुनकर मैं थोड़ा खुद पर कंट्रोल पाने की सोची.. पुढील वाटचालीसाठी शुभेच्छा
  3. मोना उसे बड़े प्यार से कमीना कह रही थी ,उसे देखकर मुझे सच में रोहित के लिए जलन हो गई क्योकि मेरी उसके जैसी कोई दोस्त नही थी , हौले हौले उनका सारा लंड चाट कर साफ़ कर दिया। उनके लंड के ऊपर से मिला जुला स्वाद ने मुझे उत्तेजित सा कर दिया। अपने थूक से लिसे
  4. खड़े खड़े सेक्स...बात को मैं नही आप बदल रहे हो ,जिस चीज के लिए इतने दिनों से मेरा दिमाग बदलने की कोशिस कर रहे थे आज वो सामने है अब बोलो की आपको क्या चाहिए,मैं सब में तैयार हु और जमुना दीदी के स्तन बहुत कम उम्र में विकसित हो गए थे। पर लहंगा तो ढीला हे होता है सो उसमे मीनू चमक उठी। दोनों वस्त्र बहुत ही महीन कोमल
  5. भाभी...शास अब अपना लंड बहार निकल ही लो....मुझे याद आ रही है आपनी पहली चुदाई...सोच सोच कर ही चूत गीली हो जाती है...ये बात अलग है की वो लंड शास के लंड जैसा नही था...... टीचर के इस तरह बात करने से पहले तो मुझे बहुत शर्म आई कि मैं टीचर को क्या जवाब दूँ। मगर एक बार फ़िर पूछ ने पर मैंने कहा-नहीं…

गुड निघतं इमेजेस इन मराठी

म्म आआआअहह सस्स्स्स्स्स्स्शहाआआआसस्स्स्स्स्सस्स म्म्म्ममाआअरर्र्र्ररर ह्ह्ह्ह्हीई द्द्द्दाआआल्ल्ल्ल्लाआआआआ.....आआआआआहह हह...........

मैं चलता हुआ मोना तक पहुच मुझे देखकर शर्मा जो की जोरो से हँस रहा था,उसकी हँसी थोड़ी कम हो गई जैसे झेंप गया हो या मेरा आना उसे पसंद नही आया हो … मम्मी मैं भी आने वाला हूँ आपकी चूत में। मम्मीईईईए मैं झड़ने ………, अक्कू ने ज़ोर की सिसकारी मार कर अपना लंड मम्मी की चूत में खोल दिया।

खड़े खड़े सेक्स,पेयेस्स्सवूऊवूऊवूऊयूयुवयन्न्नन्नन्नन्न्न्नस्स्स्स ईईईईई की आवाज़ बढ़ने के साथ शास का लंड झटके खाने लगा.......

घबराइए नही वो मेरे अच्छे दोस्त है ,मंत्री जी से बात हुई मेरी ,और मैं भी चाहता हु की इस लड़की का जीवन सुधार जाए,लड़की बुरी नही है बस बुरी आदतों की मारी है,अब शायद आप ही कुछ कर पाए ..

अकबर चाचू ने मुश्किल से लम्बे चुम्बन नन्ही बेटी को नीचे रखा ही था कि तभी मैं पसीने से भीगी चाचू चाचू पुकारती हुई अकबरमोटी गांड वाली औरत

पापा ने दृढ़ संकल्प से एक भीषण धक्के के बाद दुसरे निर्मम धक्कों से मेरी चूत में अपना सम्पूर्ण विकराल लंड जड़ तक ठूंस दिया। मेरे सुबकाईयां मेरे दर्द की गवाही दे रहीं थीं। मेरी उम्र की कई लडकियां तो लंड के मारे में सोच भी पातीं जबकि मैं अपने पापा के महाकाय लंड के ऊपर फसी तड़प रही थी। बड़े मामा ने आहिस्ता से गोद में उठाकर कर मुझे बिस्तर पर सीधे लिटा दिया. मैंने शर्मा कर अपना एक हाथ से अपने बड़े उरोज़ों और दूसरा हाथ अपनी जांघों के

ससुर…एक औरत ऑर मर्द जब मिलते है तो ये पाप नहीं पुण्य बन जाता है….क्या तुम्हें मज़ा नहीं आ रहा है बेटी…..क्या तुम्हें ये अच्छा नहीं लग रहा है…यदि तुम्हे बुरा लग रहा है तो हम एक ओर हट जाते है….

उनकी घनी घुंघराली झांटे उनके योनि रस से पसीजी हुईं थीं। कमरे में मोहक रति रस की सुगंध वातावरण में व्याप्त होने लगी।,खड़े खड़े सेक्स को चोदने लगी। बुआ ने भी अपने एक गीली उंगली हलके से मेरी तंग गांड में सरका दी और ज़ोर से मेरे भग -शिश्न को

News